Aansoo Shayari In Hindi

Aansoo Shayari, Aansoo Bhari Shayari, आंसू शायरी, Nafrat Si Hone Lagi Hai Iss Safar Se Ab, Zindagi Kahin Toh Pahucha De Khatm Hone Se Pehle. नफरत सी होने लगी है इस सफ़र से अब, ज़िंदगी कहीं तो पहुँचा दे खत्म होने से पहले।

Aansoo Bhari Shayari

Aansoo Bhari Shayari

Uss Se Bichhde Toh Maloom Hua Maut Bhi Koi Cheej Hai,
Zindagi Woh Thi Jo Uski Mahfil Mein Gujaar Aaye.
उससे बिछड़े तो मालूम हुआ मौत भी कोई चीज़ है,
ज़िन्दगी वो थी जो उसकी महफ़िल में गुज़ार आए।

Milne Ko Toh Har Shakhs

Milne Ko Toh Har Shakhs Ehtraam Se Mila,
Par Jo Mila Kisi Na Kisi Kaam Se Mila.
मिलने को तो हर शख्स एहतराम से मिला,
पर जो मिला किसी न किसी काम से मिला।

Dil Se Dil Mile

Dil Se Dil Mile

Dil Se Dil Mile Ya Na Mile Haath Milaao,
Humko Ye Saleeka Bhi Badi Der Se Aaya.
दिल से दिल मिले या न मिले हाथ मिलाओ,
हमको ये सलीका भी बड़ी देर से आया।

Ehsaan Kisi Ka Woh Rakhte

Ehsaan Kisi Ka Woh Rakhte Nahi Mera Bhi Chuka Diya,
Jitna Khaya Tha Namak Mera Mere Zakhmo Pe Laga Diya.
एहसान किसी का वो रखते नहीं मेरा भी चुका दिया,
जितना खाया था नमक मेरा मेरे जख्मों पे लगा दिया।

.
Unka Diya Koi Zakhm

Unka Diya Koi Zakhm

Kured-Kured Kar Bade Jatan Se Humne Rakhe Hain Hare,
Kaun Chahta Hai Ke Unka Diya Koi Zakhm Bhare
. कुरेद-कुरेद कर बड़े जतन से हमने रखे हैं हरे,
कौन चाहता है कि उनका दिया कोई ज़ख्म भरे।

Paas Raha Kuchh Bhi Nahi

Ab Toh Haathon Se Lakeerein Bhi Miti Jati Hain,
Usey Khokar Mere Paas Raha Kuchh Bhi Nahi.
अब तो हाथों से लकीरें भी मिटी जाती हैं,
उसे खोकर मेरे पास रहा कुछ भी नहीं।

Khamoshyian Kar Deti Bayaan

Khamoshyian Kar Deti Bayaan

Khamoshyian Kar Deti Bayaan Toh Alag Baat Hai,
Kuchh Dard Hain Jo Lafzo Mein Utaare Nahi Jate.
खामोशियाँ कर देतीं बयान तो अलग बात है,
कुछ दर्द हैं जो लफ़्ज़ों में उतारे नहीं जाते।

Aaj Humne Intehaan

Dekhi Hai Berukhi Ki Aaj Humne Intehaan,
Hum Pe Najar Padi Toh Mehfil Se Uthh Gaye.
देखी है बेरुखी की आज हम ने इन्तेहाँ,
हमपे नजर पड़ी तो वो महफ़िल से उठ गए।

Bewaqt Bewajah Besabab

Bewaqt Bewajah Besabab

Bewaqt Bewajah Besabab Si Berukhi Teri,
Phir Bhi Beinteha Chahne Ki Bebasi Meri.
बेवक्त बेवजह बेसबब सी बेरुखी तेरी,
फिर भी बेइंतहा तुझे चाहने की बेबसी मेरी।