Achi Shayari - अच्छी शायरी

हलो दोस्तों (Hindishayariapp.com ) के ( अच्छी शायरी, Achi Shayari ) पेज पे आप का स्वागत है, दोस्तों उम्मीद करता हूँ की अच्छी शायरी, achi shayari , achi soch shayari, mast shayari, मस्त शायरी आप को पोस्ट अच्छे लगेंगे - धन्यवाद

acchi-shayari-shouk-pure-karlo

shouk pure karlo

shouk pure karlo zindagi to khud hi puri ho jaaegi ek din

from Achi Shayari - अच्छी शायरी
tera-khayal-mast-shayari

tera khayal mast shayari

कुछ सोचूं तो तेरा ख्याल आ जाता है
कुछ बोलूं तो तेरा नाम आ जाता है
कब तक छुपाऊँ दिल की बात
उसकी हर अदा पर मुझे प्यार आ जाता है
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी
kinara-ho-tum

kinara ho tum

इस डूबी हुई नाव का किनारा हो तुम
मेरी ज़िंदगी का आखिरी अंजाम हो तुम
यूँ तो हर मुश्किल को पार करने की हिम्मत है मुझमे
बस तुम को खोने के अंजाम से डरते हैं हम
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी

fark hota hai

फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में
फर्क होता है किस्मत और लकीर में
अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना
कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी
.
teri-anjuman-se-pahle

teri anjuman se pahle

सितम की रस्में बहुत थीं लेकिन, न थी तेरी अंजुमन से पहले
सज़ा खता-ए-नज़र से पहले, इताब ज़ुर्मे-सुखन से पहले
जो चल सको तो चलो के राहे-वफा बहुत मुख्तसर हुई है
मुक़ाम है अब कोई न मंजिल, फराज़े-दारो-रसन से पहले
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी
dil-tod-deta-hai-shayari

dil tod deta hai

प्यार में कोई तो दिल तोड़ देता है
दोस्ती में कोई तो भरोसा तोड़ देता है
ज़िंदगी जीना तो कोई ग़ुलाब से सीखे
जो खुद टूट कर दो दिलों को जोड़ देता है
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी
tanhai-kis-kaam-ki

tanhai kis kaam ki

जहाँ याद न आये तेरी वो तन्हाई किस काम की
बिगड़े रिश्ते न बने तो खुदाई किस काम की
बेशक़ अपनी मंज़िल तक जाना है हमें
लेकिन जहाँ से अपने न दिखें, वो ऊंचाई किस काम की
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी
kagaj-ki-kashti-shayari

kagaj ki kashti shayari

कागज़ की कश्ती से पार जाने की ना सोच
चलते हुए तुफानो को हाथ में लाने की ना सोच
दुनिया बड़ी बेदर्द है, इस से खिलवाड़ ना कर
जहाँ तक मुनासिब हो, दिल बचाने की सोच
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी
har-baar-mere-samne

har baar mere samne

हर बार मेरे सामने आती रही हो तुम
हर बार तुम से मिल के बिछड़ता रहा हूँ मैं
तुम कौन हो ये खुद भी नहीं जानती हो तुम
मैं कौन हूँ ये खुद भी नहीं जानता हूँ मैं
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी
mast-shayari-pyar-ke-din

mast shayari pyar ke din

इस नए साल में ख़ुशियों की बरसातें हों
प्यार के दिन और मोहब्बत की रातें हों
रंजिशें नफ़रतें मिट जायें सदा के लिए
सभी के दिलों में ऐसी चाहते हों
mast shayari, मस्त शायरी

from Achi Shayari - अच्छी शायरी