Deep Shayari

deep shayari, deep shayari on life, deep shayari in hindi

deep shayari on life

deep shayari on life

sab ke honto pe tabassum tha mere katal ke baad
jane kya soch ke rotha raha hai katil mera
सब के होंठो पे तबस्सुम था मेरे काटल के बाद
जाने क्या सोच के रोता रहा है कातिल मेरा

phir bhi barbaad ho jaon to ho jane do
ek hasrat thi ke to mera muqaddar ban jaye
फिर भी बर्बाद हो जाओं तो हो जाने दो
एक हसरत थी के तो मेरा मुकद्दर बन जाये

asoon bahane se koi apna nahi hota
jo dil mohabbat larte hai wo kabhi rone nahi dete
आसूं बहाने से कोई अपना नहीं होता
जो दिल मोहब्बत लरते है वो कभी रोने नहीं देते

deep shayari in hindi

deep shayari in hindi

mangi thi humne khuda se zindagi
khuda ne tum ko humse mila kar zindagi bada di
मांगी थी हमने खुदा से ज़िन्दगी
खुदा ने तुम को हमसे मिला कर ज़िन्दगी बड़ा दी

bekhabar ho gaye hai kuch log humse
hamari zarurat ab mehsoos bhi nahi karte
kabhi bohut batein kya karte the
ab haal bhi nahi pucha karte

बेखबर हो गए है कुछ लोग हमसे
हमारी ज़रूरत अब महसूस भी नहीं करते
कभी बहुत बातें क्या करते थे
अब हाल भी नहीं पूछा करते

aye dil bhul ja pagal duniya se dil lagana
wafa karo to saza dete hai khamosh raho to bhula dete hai
ए दिल भूल जा पागल दुनिया से दिल लगाना
वफ़ा करो तो सजा देते है खामोश रहो तो भुला देते है

mere kisse main tum aate to ho
par mere hisse main kab aao ge
मेरे किस्से मैं तुम आते तो हो
पर मेरे हिस्से में कब औ गए