ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari

हलो दोस्तों (Hindi shayari app.com ) के ( ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari ) पेज पे आप का स्वागत है, दोस्तों उम्मीद करता हूँ की आप को पोस्ट अच्छे लगेंगे - धन्यवाद

wo-kahti-thi-shayari-meri-khamoshi

wo kahti thi shayari

वो कहती थी तेरे जिश का साया हु मै
सायद इसलिए अंधेरो में साथ छोड़ दिए उसने

from ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari
rone-ki-wajah-shayari-khamoshi

rone ki wajah shayari

हमारे रोने को वजह वो ही क्यों बनता है
जिसपे हम सबसे ज्यादा भरोषा करते है
ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari

from ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari
halka-rishta-shayari

halka rishta shayari

सुना है मतलब बहुत वजनदार होता है
निकल जाने के बाद हर रिश्ते हल्का कर देता है

from ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari
fark-bhut-hai-shayari-khamoshi-shayari

fark bhut hai shayari

फर्क बहुत है तेरी और मेरी तालीम में
तूने उस्तादों से सिखा और मैंने हालातो से
ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari

from ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari
.
rashke-qamar-shayari-khamoshi-shayari

rashke qamar shayari

काश हमारा भी कोई रश्के कमर होता
हम भी नजर मिलते हमे भी मजा आता
ख़ामोशी शायरी

from ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari