Maut Shayari - Death Shayari

maut shayari, death shayari, maut ki shayari, maut shayari in hindi, dead shayari

zindagi aur maut shayari

mil jayega hamhe bhi koi chahne wala
ab sahar main har koi bewafa to nahi hai
मिल जायेगा हम्हे भी कोई चाहने वाला
अब सहर मैं हर कोई बेवफा तो नहीं है

na wafa hai na jafa hai na khabar apni na khabar be gane ki
kon batayega diwana tera kis haal main pada hai
न वफ़ा है न जफ़ा है न खबर अपनी न खबर बेगाने की
कौन बतायेगा दीवाना तेरा किस हाल मैं पड़ा है

tumhara dil agar pigle kabhi gum hararat se
tab tumhe maloom ho jayega mohabbat kise khete hai
तुम्हारा दिल अगर पिघले कभी गम हरारत से
तब तुम्हे मालूम हो जायेगा मोहब्बत किसे कहते है

ishq bhi badi na moraad cheez hai
isi ka hota hai jo kisi ka nahi hota
इश्क़ भी बड़ी ना मुराद चीज़ है
इसी का होता है जो किसी का नहीं होता