2 line attitude shayari in hindi font

2 line attitude shayari in hindi font

Zamin Par Rah Kar Aasmaan Chhune Ki Fitrat Hai Meri,
Par Gira Kar Kisi Ko Upar Uthane Ka Shauk Nahi Mujhe.
ज़मीं पर रह कर आसमान छूने की फितरत है मेरी,
पर गिरा कर किसी को उपर उठने का शौक नहीं मुझे।

Dushmano Ko Sazaa Dene Ki Ek Tehzeeb Hai Meri,
Main Haath Nahi Uthhata Bas Najaron Se Gira Deta Hun.
दुश्मनो को सजा देने की एक तहजीब है मेरी,
मै हाथ नहीं उठाता बस नजरों से गिरा देता हूँ।

Aksar Wohi Log Uthhate Hain Hum Par Ungliyan,
Jinki Humein Chhune Ki Aukaat Nahi Hoti.
अक्सर वही लोग उठाते हैं हम पर उँगलियाँ,
जिनकी हमे छुने की औकात नहीं होती।

Abhi Kanch Hun Isaliye Duniya Ko Chubhta Hun,
Jab Aainaa Ban Jaunga Poori Duniya Dekhegi.
अभी कांच हूँ इसलिए दुनिया को चुभता हूँ,
जब आइना बन जाऊंगा पूरी दुनिया देखेगी।

Abhi Mutthi Nahi Kholi Hain Maine Aasman Sun Le,
Tera Bas Waqt Aaya Hai Mera To Daur Aayega.
अभी मुट्ठी नहीं खोली हैं मैंने आसमान सुन ले,
तेरा बस वक़्त आया है मेरा तो दौर आयेगा।

from Attitude Shayari In Hindi