aakhash huaa suhaana

aakhash huaa suhaana

सीतल-सीतल वायु चली,
आकाश हुआ सुहाना,
जोकर भी व्हाट्सऐप पढ़ने लगे,
शिक्षित हुआ ज़माना.

from Thandi Shayari