bla ya mehbani

hindi-shayari-app

यह इनाएतें गज़ब की यह बला की मेहेरबानी
मेरी खेरियत भी पूछी किसी और की ज़बानी।

from Dil Shayari - दिल शायरी