Zara Si Zindagi Hai

dard-shayari-zra-si-zindagi

ज़रा सी ज़िंदगी है, अरमान बहुत हैं
हमदर्द नहीं कोई, इंसान बहुत हैं
दिल के दर्द सुनाएं तो किसको
जो दिल के करीब है, वो अनजान बहुत हैं

Dard Bhari Shayari