Sabse Dard Bhari Shayari

dard-bhari-shayari-dost-ke-bina

mat cheen apna naam mere lab se is tarah
is ne anzan zindagi main tera hi naam to hai
मत छीन अपना नाममेरे लब से इस तरह
इस ने अनजान ज़िन्दगी मैं तेरा ही नाम तो है

aa gaya jis roz dil ko samjhan mujhe
aap ki ye berokhi kis kaam ki reh jayegi
आ गया जिस रोज़ दिल को समझें मुझे
आप की ये बेरूखी किस काम की रह जाएगी

from Dard Bhari Shayari