dost kehta hoon

dost-kehta-hoon

जो दिल को अच्छा लगता है उसी को दोस्त कहता हूँ,,
मुनाफ़ा देखकर रिश्तों की सियासत नहीं करता ,

from Dosti Shayari In Hindi