fark bhut hai shayari

fark-bhut-hai-shayari-khamoshi-shayari

फर्क बहुत है तेरी और मेरी तालीम में
तूने उस्तादों से सिखा और मैंने हालातो से
ख़ामोशी शायरी, Khamoshi Shayari

from Khamoshi Shayari