Friendship Shayari Dosti Hoti Hai

friendship-shayari-dosti-hoti-hai

दोस्ती होती है दिले राज़ बताने के लिए
हम अपनी हानशी मिटा दें आपको हसने के लिए

मिलने की तो आपको फ़ुर्सत नही
तो हम स्मस करते हैं अपनी याद दिलाने के लिए

आओ ताल्लुकात को कुछ और नाम दें
ये दोस्ती का नाम तो बदनाम हो गया

हम वक्त गुजारने के लिए दोस्तों को नही रखते
दोस्तों के साथ रहने केलिए वक्त रखते है

दिल मैं में जिनको भी जगह देता हूँ खुद से ज़्यादा
मैं उनका ख्याल रखता हूँ जैसे के तुम मेरे दोस्त

Read More