good night shayari for dost

good night shayari for dost

Aap jo so gaye to khwab hamara hi aayega
Pyaari si muskaan aapke chehre per layega
Khidki aur darwaje dil ke khol kar sona
Warna aap hi batao hamara khwab kaha se aayega

मिलने आयेंगे हम आपसे ख्वाबों में,
ये ज़रा रौशनी के दिये बुझा दीजिए,
अब नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाकात का,
ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए

Palko me kaid kuchh saapne hai
kuchh paraye aur kuchh apne hai
jaane kya kashish hai in khayalo me
kuchh log hamse door hoke bhi kitne apne hai

हर सपना कुछ पाने से पूरा नहीं होता,
कोई किसी के बिन अधूरा नहीं होता,
जो चाँद रौशन करता है रात भर सब को,
किसी रात वो भी तो पूरा नहीं होता। .

from Good Night Shayari In Hindi