Hajaar Baar Jo Manga Karo

Hajaar Baar Jo Manga Karo

Hajaar Baar Jo Maanga Karo Toh Kya Haasil,
Dua Wahi Hai Jo Dil Se Kabhi Nikalti Nahi.
हज़ार बार जो माँगा करो तो क्या हासिल,
दुआ वही है जो दिल से कभी निकलती है।

Ulfat-e-Yaar Mein Khuda Se Aur Maangun Kya,
Yeh Dua Hai Ke Tu Duaon Ka Bhi Mohtaaj Na Ho.
उल्फत-ए-यार में खुदा से और माँगू क्या,
ये दुआ है कि तू दुआओं का मोहताज न हो।

from Shayari In Hindi- शायरी इन हिंदी