Jee Chahta Hai

Jee Chahta Hai

Hain Honthh Uske Kitaabon Mein Likhi Tehreeron Jaise
Ungali Rakho Toh Aage Parhne Ko Jee Chahta Hai.
हैं होंठ उसके किताबों में लिखी तहरीरों जैसे,
ऊँगली रखो तो आगे पढ़ने को जी करता है।
naseeb shayari 2 line

from Naseeb Shayari