Jisse Hum Pyar Karte Romantic Shayari

romantics-shayari-jisse-hum-pyar-karte

jisse hum pyar karte hai wo bhi utna hi payar kare
जिसे हम प्यार करते है वो भी उतना ही प्यार करे

na puch kitne mohabbat main jakham khaye hai
agar inke baare main soch lo to dil bhar jata hai
ना पूछ कितनी मोहब्बत मैं ज़ख़्म खाए है
अगर इनके बारे में सोच लो तो दिल भर जाता है

aaj phir din bhar kuch karte palkhon par rahenge
raaj bhar use khuwab main bichadta dekh hoon
आज फिर दिन भर कुछ करते पल्खों पर रहेंगे
राज भर उसे खुवाब मैं बिछड़ता देख हूँ

jakham hi dena to pura jism tere huwale tha
be rahem tune waar kiya wo bhi dil hi waar kiya
जख्म ही देना तो पूरा जिस्म तेरे हवाले था
बे रहम तूने वार क्या वो भी दिल ही वार क्या

main chaha tha ki jakham bhar jaye
jakham hi jakham bhar gaye mujh main
मैं चाहा था की जखम भर जाये
ज़ख्म ही ज़ख्म भर गए मुझ मैं

from Romantic Shayari In Hindi