khushi shayari in hindi

khushi shayari in hindi

ujad jate hai wo log sir se pao tak
jo bina matlab ke kisi se pyar karte hai
उजड़ जाते है वो लोग सर से पाँव तक
जो बिना मतलब के किसी से प्यार करते है

tera ishq mujhe is haal main le aaya
na man mera hai aur na tan mera hai
तेरा इश्क मुझे इस हाल में ले आया
न मन मेरा है और न तन मेरा है

mujhe kaanta chube aur uski aankho se lahu tapke
talluk ho to aisa ho mohabbat ho to aysi ho
मुझे काँटा चुबे और उसकी आँखों से लहू टपके
ताल्लुक हो तो ऐसा हो मोहब्बत हो तो ऐसी हो

from Happy Shayari