khwahishein shayari in hindi

khwahishein shayari in hindi

wah re ishq tera kya kehna
jo tujhe jaan jata hai iski to jaan le leta hai
वाह रे इश्क़ तेरा क्या कहना
जो तुझे जान जाता है इसकी तो जान ले लेता है

abhi to ishq ki pahli sidhi par kadam rakha hai
abhi to tark duniya abhi se marne ki baaten
अभी तो इश्क़ की पहली सीढ़ी पर कदम रखा है
अभी तो तर्क दुनिया अभी से मारने की बातें

ishq ne daal di iski tabiyat main narmi
warna wo shaks to kabhi roya na tha
इश्क़ ने दाल दी इसकी तबियत में नरमी
वरना वो शख्स तो कभी रोया न था

from khwahish shayari