labour day essay in hindi

labour-day-essay-in-hindi

मेहनत उसकी लाठी है मज़बूत उसकी काठी है
हर बाधा को कर देता है दूर दुनिया उसे कहती है मजदूर
लेबर दे शायरी

from Labour Day Shayari - मजदूर दिवस