likha nhi hota

shero-shayari-hindi-likha-nhi-hota

हर किसी कै किसमत मै ऐसा लिखा नही हौता .
. हर मंजिल मै तैरै जैसा दौस्त का पाता नही मिलता
मैरी तकादीर हौगी कुछ खास
वरना तैरै जैसा यार मुझै कहा मिलता
Hindi Shero Shayari, Shero Shayari In Hindi, Sher O Shayari, शेरो शायरी

from Shero Shayari - शेरो शायरी