Log Yuhi Kamiya Nikalte Rahe

log-yuhi-kamiya-nikalte-rahe

अगर लोग यूँ ही कमिया निकालते रहे तो
एक दिन सिर्फ खुबिया ही रह जायेगी मुझमे

gum zindagi mujhe yun na badal
teri yaaden bhi mere seene se nikal na jaye
गम ज़िन्दगी मुझे यूँ न बदल
तेरी यादें भी मेरे सीने से निकल न जाये

jo zindagi ke takhje hai wo tum samjh gaye hote
tum mere dil ke iraade ko samajh gaye hote
जो ज़िन्दगी के टखजे है वो तुम समझ गए होते
तुम मेरे दिल के इरादे को समझ गए होते

from Zindagi Shayari In Hindi