logical shayari in hindi

logical shayari in hindi

kya huwa aye khamosh jo in ko humse pyar nahi
bich rah main jo chode hum bhi wo dildar nahi
क्या हुवा ए खमोश जो इन को हमसे प्यार नहीं
बीच राह में जो छोडे हम भी वो दिलदार नहीं

jis khuwab main ho jaye didar hasil
aye ishq humko bhi kabhi aysi neend sula de
जिस खुवाब मैं हो जाये दिदार हासिल
ए इश्क़ हमको भी कभी एसी नींद सुला दे

didar ke qabil to kaha meri najar hai
ye unki shaan hai jo rukh idhar ka mod rakhe hai
दीदार के काबिल तो कहा मेरी नजर है
ये उनकी शान है जो रुख इधर का मोड़ रखी है

from Logical Shayari