mohabbat mohabbat se jyada

sahyari-ki-dayari-mohabbat-mohabbat-se-jyada

तूने मोहब्बत, मोहब्बत से ज्यादा की थी,
मैंने मोहब्बत तुझसे भी ज्यादा की थी,
अब किसे कहोगे मोहब्बत की इन्तेहाँ,
हमने शुरुआत ही इन्तेहाँ से ज्यादा की थी
शायरी की डायरी, शायरी की डायरी फोटो,
shayari ki dayari, शायरी की दुनिया

Shayari Ki Dayari