Neend Aae Yaa Naa Aae Shayari

raat-ki-shayari-neend-aae-yaa

neend aae yaa naa aae chirag bhujha diya karo
yun raat bhar kisi ka jalna humse dekha nhi jata
नीद आये या ना आये चिराग बुझा देना चाहिए
यूं रात भर किसी का जलना अच्छा नही लगता

रात गुमसुम हैं मगर चाँद खामोश नहीं,
कैसे कह दूँ फिर आज मुझे होश नहीं,
ऐसे डूबा तेरी आँखों के गहराई में आज,
हाथ में जाम हैं,मगर पिने का होश नहीं.

अगर मै हद से गुज़र जाऊ तो मुझे माफ़ करना,
तेरे दिल में उत्तर जाऊ तो मुझे माफ़ करना,
रात में तुझे देख के तेरे दीदार के खातिर,
पल भर जो ठहर जाऊ तो मुझे माफ़ करना.

from Good Night Shayari In Hindi