Raftaar Zindagi Ka Ye Aalam Hai Dosto

raftaar-zindagi-ka-ye-aalam-hai-dosto

Tej Raftaar Zindagi Ka Ye Aalam Hai Dosto
Subah Ke Gham Bhi Sham Ko Purane Lagte Hain
तेज रफ़्तार जिंदगी का ये आलम है दोस्तों
सुबह के गम भी शाम को पुराने लगते हैं
Hindi Shayari

Na Jahir Hui Tumse Aur Na Hi Bayaan Hui Humse
Bas Suljhi Hui Aankhon Mein Uljhi Rahi Mohabbat
न जाहिर हुई तुमसे और न ही बयान हुई हमसे
बस सुलझी हुई आँखो में उलझी रही मोहब्बत
Hindi Shayari

Logon Ne Roj Hi Naya Kuchh Manga Hai Khuda Se
Ek Hum Hi Hain Jo Tere Khayal Se Aage Na Gaye
लोगों ने रोज ही नया कुछ माँगा खुदा से
एक हम ही हैं जो तेरे ख्याल से आगे न गये
Hindi Shayari

Hum Bhi Bargad Ke Darakhton Ki Tarah Hain
Jahan Dil Lag Jaye Wahan TaUmr Khade Rahte Hain.
हम भी बरगद के दरख़्तों की तरह हैं
जहाँ दिल लग जाए वहाँ ताउम्र खड़े रहते हैं
Hindi Shayari

Chahat Hai Ya Dillagi Ya Yoon Hi Man Bharmaya Hai
Yaad Karoge Tum Bhi Kabhi Kis Se Dil Lagaya Hai
चाहत है या दिल्लगी या यूँ ही मन भरमाया है
याद करोगे तुम भी कभी किससे दिल लगाया है
Hindi Shayari

from Hindi Shayari - हिंदी शायरी