romantic barish shayari for boyfriend

romantic barish shayari for boyfriend

सीने में समुन्दर के लावे सा सुलगता हूँ
मैं तेरी इनायत की बारिश को तरसता हूँ.
Sene Me Samundar Ke lave Sa Sulagta Hun
Me Teri Enayat Ki Barish Ko Trasta Hun

बरसात का बादल तो दीवाना है क्या जाने
किस राह से बचना है किस छत को भिगोना है
Barsat Ka Badal To Devana Hai Kya Jane
Kis Rah Se Bachna Hai Kis Chat Ko Bhigona Hai

from Barish Shayari