royal attitude shayari in hindi

royal attitude shayari in hindi

Jo Hukm Karta Hai Wo iltija Bhi Karta Hai,
Aasman Bhi Kahi Jaakar Jhuka Karta Hai,
Agar Tu Bewafa Hai To Ye Bhi Sun Le,
Intezar Mera Koi Waha Bhi Karta Hai.

जो हुक्म करता है वो इल्तिजा भी करता है,
आसमान भी कहीं जाकर झुका करता है,
अगर तू बेवफा है तो ये भी सुन ले,
इंतज़ार मेरा कोई बहां भी करता है।

Aag Lagana Meri Fitrat Me Nahin,
Meri Sadagi Se Log Jale To Mera Kya Kasoor.
आग लगाना मेरी फितरत मे नहीं,
मेरी सादगी से लोग जले तो मेरा क्या कसूर।

Thahar Sake Jo Labon Par Hamare,
Hansi Ke Sivay Majaal Kiski.
ठहर सके जो लबों पर हमारे,
हंसी के सिवाय मजाल किसकी।

Teri Mohabbat Ko Kabhi Khel Nahi Samjha,
Varna Khel To Itne Khele Hain Ke Kabhi Haare Nahi.
तेरी मोहब्बत को कभी खेल नहीं समझा,
वरना खेल तो इतने खेले हैं कि कभी हारे नहीं।

from Attitude Shayari In Hindi