rulaya bahut shayari

rulaya-bahut-shayari

जब भी कोई करीब आया बहुत
हमको किश्मत ने रूलाया बहुत
बहुत पास आकर बहुत दूर चला गया
उस पल हमने आँसूओ को बहाया बहुत
वो मेरा था ही नही कभी भी
हमने अपने दिल को समझाया बहुत
सुनो ! बहुत प्यार था उस सख्स से
मेरी हालत देख लोगो को यकी आया बहुत
अब बहुत खामौश हुँ खुद से यारो
एक वो भी वक्त था जब लोगो को हँसाया बहुत...

Pahla Pyar Shayari