Shayari On Romantic In Hindi

romantics-shayari-sirf-tune-hi-kabh

sirf tune hi kabhi mujhko apna na samjha
zamana to aaj bhi mujhe tera deewana kahta hai
सिर्फ तुमे ही कभी मुझे अपना न समझा
जमाना to आज भी मुझे तेरा देवाना कहता है

najar ka fark hota hai husn ka nahi
sanam jiska bhi ho wo uske liye be misaal hota hai
नज़र का फर्क होता है हुस्न का नहीं
सनम जिसका भी हो वो उसके लिए बे मिसाल होता है

from Romantic Shayari In Hindi