two line shayari app

two-line-shayari-app

रूबरू होने की तो छोड़िये, गुफ़्तगू से भी क़तराने लगे हैं,
ग़ुरूर ओढ़े हैं रिश्ते,अपनी हैसियत पर इतराने लगे हैं
two line shayari

from Two Line Shayari - दो लाइन शायरी