wo chali gayi shayari

मेरे खुवाबों में वो तीर चला कर चली गई
में सोया थ मुझ को जगह कर चली गई
मैंने पूछा चाँद कैसे निकलता है
वो अपने चहेरे से जुल्फें हटा कर चली गई

from Sorry Shayari In Hindi