zindagi ki khwahish shayari

zindagi ki khwahish shayari

ameer to hai to itna bata de mujhe
gareeb hoon main to meri khata bata de
अमीर तो है तो इतना बता दे मुझे
गरीब हूँ मैं तो मेरी खता बता दे

duaa main meri bohut tasir hai lekin
khuda se aur kya mangu sawal yaar se pahle
दुआ में मेरी बहुत तासिर है लेकिन
खुदा से और क्या मांगू सवाल यार से पहले

khud pe itna maan hai kod ke nahi dekha
jise maan lo mere use kisi ka hone nahi dete
खुद पे इतना मान है कोड के नहीं देखा
जिसे मान लो मेरे उसे किसी का होने नहीं देते

from khwahish shayari