Shayari Ki Dayari

हलो दोस्तों (Hindishayariapp.com ) के ( शायरी की डायरी, shayari ki dayari ) पेज पे आप का स्वागत है, शायरी की डायरी, शायरी की डायरी फोटो, shayari ki dayari, शायरी की दुनिया, उम्मीद करता हूँ की आप को पोस्ट अच्छे लगेंगे - धन्यवाद

shayari-ki-diary-matlab-ke-liae

matlab ke liae

कुछ मतलब के लिए ढूँढते हैं मुझको,
बिन मतलब जो आए तो क्या बात है,
कत्ल कर के तो सब ले जाएँगे दिल मेरा,
कोई बातों से ले जाए तो क्या बात है.”

kuchh matalab ke lie dhoondhate hain mujhako,
bin matalab jo aae to kya baat hai,
katl kar ke to sab le jaenge dil mera,
koy baaton se le jae to kya baat hai.”
शायरी की डायरी, शायरी की डायरी फोटो,
shayari ki dayari, शायरी की दुनिया

shayari-ki-diary-mai-aayna-hoon

mai aayna hoon

बिन बात के ही रूठने की आदत है;
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है;
आप खुश रहें, मेरा क्या है;
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है।

bin baat ke hi roothane ki aadat hai;
kisi apane ka saath paane ki chaahat hai;
aap khush rahen, mera kya hai;
main to aaina hoon, mujhe to tootane ki aadat hai.
शायरी की डायरी, शायरी की डायरी फोटो,
shayari ki dayari, शायरी की दुनिया

tanhai-se-darte-hai

tanhai se darte hai

ज़माने से नहीं, तन्हाई से डरते हैं,
प्यार से नहीं, रुसवाई से डरते हैं,
मिलने की उमंग है दिल में लेकिन,
मिलने के बाद तेरी जुदाई से डरते हैं

zamaane se nahin, tanhai se darate hain,
pyaar se nahin, rusavai se darate hain,
milane ki umang hai dil mein lekin,
milane ke baad teri judai se darate hain
शायरी की डायरी, शायरी की डायरी फोटो,
shayari ki dayari, शायरी की दुनिया

ghar-ke-bahar-skool-jane-ko-nikli

ghar ke bahar skool jane

घर से बाहर कोलेज जाने के लिए वो नकाब मे निकली,
सारी गली उनके पीछे निकली,
इनकार करते थे वो हमारी मोहबत से,
और हमारी ही तसवीर उनकी किताब से निकली

ghar se baahar coleg jaane ke lie vo nakaab me nikali,
saari gli unake peechhe nikali,
inakaar karate the vo hamaari mohabat se,
aur hamaari hee tasavir unaki kitaab se nikali
शायरी की डायरी, शायरी की डायरी फोटो,
shayari ki dayari, शायरी की दुनिया

shayari-ki-diary-pyar-ne-kaisa-ye-tohfa

pyar ne kaisa ye tohfa

प्यार ने ये कैसा तोहफा दे दिया,
मुझको गुमो ने पत्थर बना दिया.
तेरी यादों मैं ही कट गयी ये उमर,
कहता रहा तुझे कब का भुला दिया

pyaar ne ye kaisa tohapha de diya,
mujhako gumo ne patthar bana diya.
teri yaadon main hi kat gayi ye umar,
kahata raha tujhe kab ka bhula diya
शायरी की डायरी, शायरी की डायरी फोटो,
shayari ki dayari, शायरी की दुनिया