SMS Shayari

SMS Shayari, Hindi SMS Shayari, New SMS Shayari, Best SMS Shayari, Latest SMS Shayari

Hindi SMS Shayari

daulat ishq hai mala maal
kon kheta hai ki hum gareeb hai
दौलत इश्क़ है माला माल
कौन कहता है की हम गरीब है

talab ishq mita di humne isko ruka na jane diya humne
khuwaab logo ne jala dala raakh ko waha main uda diya humne
तेरे इश्क़ हमको सरकारी दफ्तर बना दिया
न कोई काम करता है न किसी की सुनता है

sakoon ka ek lamha mbhi nahi ishq main mujhko
mohabbat la sulata hoon to nafrat jaag jati hai
सकून का एक लम्हा मभी नहीं इश्क़ में मुझको
मोहब्बत ला सुलाता हूँ तो नफरत जाग जाती है

har shaks hota hai har shaks ke qabil
har shaks ko pane liye sucha nahi karte
हर शख्स होता है हर शख्स के काबिल
हर शख्स को पाने लिए सोचा नहीं करते